नई दिल्ली: पिछले ९ साल से महेंदर सिंह धोनी आईपीएल मैं काफी कमाल कर चुके हैं लेकिन आईपीएल १० सीजन के पहला ही मैच धोनी के लिए ठीक नहीं रहा | न कोई वह बल्ले से कमाल कर पाए ना ही उनसे कीपिंग ठीक तरह से हुई | यहाँ तक तो ठीक था लेकिन अब आईपीएल ने उन पर आईपीएल की आचार संहिता
की उलंगन करने पर फटकार भी लगा दी है | हलाकि आईपीएल ने मीडिया को इसके फटकार लगाने का कोई कारन नह बताया लेकिन बताया जा रहा है की धोनी ने आईपीएल के सामने कुछ ऐसी मांग रख दी थी जिसे आईपीएल के संहिता के खिलाफ माना जा रहा है |

Image Source : CricketLounge

एमएस धोनी को राइजिंग सुपरजायंट्स और मुंबई इंडियन्स के बीच खेले गए मैच के लिए फटकार लगाई गई है. | आईपीएल के आधिकारिक बयान के अनुसार ‘महेंद्र सिंह धोनी ने खेल भावना के विपरीत व्यवहार करने के लिए लेवल एक का अपराध (अनुच्छेद 2.1.1) स्वीकार किया है |

आखिर क्या था कारन :

पुणे टीम की बैटिंग दौरान धोनी कीपिंग कर रहे थे और पारी का पन्द्रवा ओवर चल रहा था \जब कीरन पोलार्ड के खिलाफ पगबाधा की अपील हुई और अंपायर ने उसे नकार दिया, लेकिन तभी धोनी ने अंपायर से डीआरएस की मांग रख दी, लेकिन डीआरएस का रूल अभी आईपीएल मैं लागु नहीं होता | शायद इस बात से अंपायर नाराज हो गए और उन्होंने ने धोनी को फटकार लगा दी |

आईपीएल के 10वें सीजन में महेंद्र सिंह‍ धोनी कप्‍तान की भूमिका में नहीं हैं. इस टूर्नामेंट के 10 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है. इससे पहले वे हमेशा कप्‍तान के रूप में नजर आए थे|