आप इस बात पर विश्‍वास करें या ना करे, लेकिन ये यच है। भारत के मध्‍य प्रदेश में एक देवी मां का एक ऐसा अनोखा मंदिर है जहां दिया घी या तेल से नहीं बल्‍कि पानी से जलता है। यह दिपक अपने आप में अनोखा है और लाखों लोगों का आकषर्ण का केंद्र बना हुआ है।

चाहे पानी नदी का ही हो

mandir-of-ghadiyaghat
@Youngistaan

मध्‍यप्रदेश के शाजापुर जिले में गड़ियाघाट वाली देवी मां का मंदिर है। ये मंदिर अपने एक दिपक के लिए खासा चर्चित है। दरअसल इस मंदिर में पिछले पांच सालों से एक दिपक पानी से जलता आ रहा है। जी हां इस दिपक को जलाए रखने के लिए ना ही घी की जरूरत है और ना ही तेल की। ये पानी से ही जगमाता रहता है। लेकिन जो पानी इस दिपक में डाला जाता है वो कालिसिंधी नदी का ही होता है जो कि मंदिर से ज्‍यादा दुरी पर नहीं है।

हैरान है लोग इस चमत्कार से

temple
@Adhbhut

यहां पर रोज हजारों भक्‍त दर्शन करने आते हैं और इस दिपक के रहस्‍य को जानने की कोशिश करते हैं। बताया जाता है कि दिए में पानी डालने के बाद वो चिपचिपा हो जाता है जिसके बाद दिया अपने आप ही जलने लगता है। इसके पीछे का क्‍या रहस्‍य है ये अब तक कोई नहीं जान पाया है। अभी भी लोग जानने के लिए उत्‍साहित है कि आखिर ये कैसे पॉसिब्‍ल हो रहा है कि एक दिया सिर्फ पानी के सहारे ही जगमगाता रहता है।

Also Read :  With Epicentre Kullu, 3 Mild Quakes Upto 4.6 Intensity Hit Himachal Pradesh

Now You Can Get the Latest Buzz On Your Phone! Download the PagalParrot Mobile App For Android and IOS