Superb Content Daily

मोदी के ट्विटर अकाउंट पर ‘भगदड़’, सवा तीन लाख फॉलोअर्स ने छोड़ा साथ

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काले धन, भ्रष्‍टाचार और जाली करेंसी के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी चोट की है। देशभर के वो लोग प्रधानमंत्री को कोस रहे हैं जिनके पास ब्‍लैक मनी है। उनका सारा पैसा अब रद्दी बन चुका है। ऐसे लोगों को समझ नहीं आ रहा है कि वो अपने इस काले धन को बचाएं तो बचाएं कैसे। 500 और 1000 के नोटों को बंद करने का असर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट पर भी देखने को मिला है। प्रधानमंत्री के ट्विटर अकाउंट पर भगदड़ मच गई है। करीब सवा तीन लाख फॉलोअर्स ने मोदी का साथ छोड़ दिया है। प्रधानमंत्री के ट्विटर अकाउंट पर इसे बड़ी गिरावट माना जा रहा है। हालांकि इसे लेकर भी लोगों की मिली जुली राय ही देखने को मिल रही है।

modi-twitter

ट्विटर माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट है। जो थर्ड पार्टी डेटा अनालिटिक निकलवाती है। इसी डेटा के मुताबिक 9 नवंबर तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर फॉलोअर्स में करीब सवा तीन लाख यूजर्स कम हो गए हैं। इसके अलावा ट्रकालिटिक्‍स के डेटा के मुताबिक भी एक दिन में प्रधानमंत्री के ट्विटर अकाउंट से तीन लाख 18 हजार फॉलोअर्स कम हुए हैं। जबकि इससे पहले उनके ट्विटर अकाउंट में हमेशा से फॉलोअर्स का इजाफा ही देखने को मिला है। शायद ये  पहला मौका होगा जब इतनी बड़ी संख्‍या में प्रधानमंत्री के फॉलोअर्स ने ट्विटर अकाउंट पर उन्‍हें अनफॉलो किया होगा। 23.8 मिलियन फॉलोअर्स के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में सबसे ज्‍यादा फॉलो किए जाने वाले नेता हैं।

narendra-modi

सदी के महानायक अमिताभ बच्‍चन के 23.3 मिलियन ट्विटर फॉलोअर्स है। उनकी गिनती दूसरे नंबर पर होती है। जानकार बताते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर फॉलोअर्स कम होने की दो वजहें हो सकती हैं। पहली वजह ये हो सकती है कि सवा करोड़ की आबादी वाले इस देश में सवा तीन लाख लोगों को प्रधानमंत्री का फैसला रास ना आया हो। वो 500 और 1000 के नोट बंद होने के फैसले खुश ना हों। क्‍योंकि एक बात तो तय है कि सरकार के इस फैसले से उन लोगों को गहरी चोट पहुंची है जिनके पास ब्‍लैकमनी इफरात में थी। ऐसे लोगों का परेशान होना भी लाजिमी है और अगर वो प्रधानमंत्री को अनफॉलो कर देते हैं तो इसमें भी कोई चौंकने वाली बात नहीं है। क्‍योंकि ये उन लोगों के लिए मातमपुर्सी का वक्‍त है जिनके घरों में 500 और 1000 के नोट भरे पड़े हुए हैं।

narendra-modi

हालांकि जानकारों के मुताबिक इसके पीछे एक दूसरी वजह भी हो सकती है। अभी कुछ दिनों से ट्विटर ने स्‍पैम अकाउंटस को डिलीट करना शुरु किया है। बहुत मुमकिन है कि इसमें ज्‍यादातर अकाउंटर स्‍पैम की वजह से डिलीट किए गए हों। क्‍योंकि ट्विटर फर्जी अकाउंट को लेकर काफी सक्रिय हो गया है। वजह कुछ भी हो लेकिन, हकीकत ये है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंटर पर इस वक्‍त भगदड़ मची हुई है। 3 लाख 18 हजार फॉलोअर्स उन्‍हें छोड़कर भाग चुके हैं। बेशक सोशल मीडिया में लोग उन्‍हें छोड़कर भाग रहे हों लेकिन, दूसरी ओर लोगों का कहना है कि प्रधानमंत्री का ये फैसला स्‍वागत योग्‍य है और पूरा का पूरा देश उनके साथ खड़ा हुआ है। लोग थोड़ी बहुत परेशानी भी उठाने को तैयार हैं।

Now You Can Get the Latest Buzz On Your Phone! Download the PagalParrot Mobile App For Android.