पीआेके में भारतीय सेना के पैरा कमांडो की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की तरफ भारतीय क्षेत्र में गुब्बारों के साथ बौखलाहट भरे संदेश भेजने के बाद कबूतरों का भी सहारा लिया जाने लगा है। रविवार सुबह पाक सीमा के बमियाल सेक्टर में पड़ती सिंबल स्कोल बीओपी पर बीएसएफ ने कबूतर पकड़ा। इसके गले में उर्दू में लिखा संदेश मिला। कबूतर को अपने कब्जे लिया…

– इसमें पीएम मोदी के नाम लिखा है कि पाकिस्तान का बच्चा-बच्चा लड़ने के लिए तैयार है। कश्मीर पर जुल्म का बदला लिया जाएगा। अब 1971 वाला पाकिस्तान नहीं है।

– बीएसएफ के कमांडेंट आईपी भाटिया ने मौके पर पहुंच कबूतर को अपने कब्जे में ले लिया है। वह इसे जांच के लिए अपने साथ ले गए हैं।
– शुक्रवार रात को दीनानगर के गांव घेसल में भी दो गुब्बारे के साथ पाकिस्तान से मोदी के नाम ही संदेश भेजा गया था कि मोदी सुन लो, आयूबी की तलवारें अभी हमारे पास हैं। कागज के पिछली तरफ इस्लाम जिंदाबाद लिखा है।

उड़ी हमले के बाद मिला था संदिग्ध कबूतर

– उड़ी हमले के बाद पंजाब के होशियापुर में भी एक संदिग्ध कबूतर मिला था।

Also Read :  Daily Wager In Dire Need Of Financial Aid For Daughter’s Cancer Treatment

– कबूतर के पंख पर उर्दू में कुछ नंबर और बॉडी पर इतवार, बुध और जुमा लिखा था।

ये पर्चे पंजाब के कई जिलों में मिले हैं। फिलहाल पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। गुब्बारों में कुछ पठानकोट, दीनानगर, तो कुछ फरीदकोट के करतारपुर तक पहुंचे।

इससे पहले कई कबूतर भी मिले थे, जिनपर उर्दू में कोड और नंबर लिखे थे। दीनानगर के केसाल गांव में चौकीदार चरण सिंह को पाकिस्तानी गुब्बारा मिला, जिसके साथ में उर्दू में लिखा एक पर्चा भी था।

इसकी सूचना दीनानगर थाने को दे दी गई है। पुलिस ने गुब्बारे और पर्च को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

Now You Can Get the Latest Buzz On Your Phone! Download the PagalParrot Mobile App For Android and IOS